Search Bar

Azam Khan: खुद ही जेल में डलवाकर आजम खान से हमदर्दी जता रही बीजेपी, बीजेपी की इसी राजनीति के आगे धराशाई है विपक्ष।

लगभग ढाई साल से अधिक समय से जेल काट रहे आजम खान की मुश्किलें कम होती नहीं दिख रहे हैं लेकिन उनके हमदर्दों की संख्या पिछले कुछ दिनों से लगातार बढ़ती जा रही है।
समाजवादी पार्टी के संस्थापक सदस्य रहे आजम खान कई मामलों में जेल काट रहे हैं उनके कार्यकर्ताओं ने विधानसभा चुनाव 2022 के बाद बगावत के सुर तेज कर दिए हैं एक के बाद एक आजम समर्थक समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर आजम खान को नजरअंदाज करने का आरोप लगा रहे हैं साथ ही आजम के लिए संघर्ष ना करने को लेकर अखिलेश यादव पर कटाक्षों का दौर चल रहा है।
4 दिन पहले ही शिवपाल सिंह यादव ने आजम खान से जेल में मुलाकात की थी जिसके बाद कांग्रेस के बड़े नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने भी जेल में आजम खान से मुलाकात की। जेल से निकलने के बाद आचार्य प्रमोद कृष्णम ने यह तक कह दिया कि आजम खान सपा से नाराज हैं और मुझसे उनका दुख देखा नहीं गया। जिसके बाद मानों कांग्रेस और समाजवादी पार्टी में वार प्रतिवार शुरू होता दिख रहा है एक तरफ ऐसे कयास भी लगाए जा रहे हैं कि समाजवादी पार्टी आगामी राष्ट्रपति चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को समर्थन न देने का भी मन बना रही है ऐसी स्थिति में समाजवादी पार्टी ना ही भाजपा को समर्थन देगी और ना ही कांग्रेस को वह किसी तीसरे खेमे के प्रत्याशी को समर्थन दे सकते हैं।
आजम खान के कई समर्थकों ने समाजवादी पार्टी पर आजम खान की अनदेखी का आरोप लगाकर समाजवादी पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया जिसके बाद सपा विरोधी नेताओं ने आजम खान से हमदर्दी जताना शुरू कर दिया है जिसमें सपा विधायक शिवपाल सिंह यादव के बाद एम आई एम और उसके बाद कांग्रेस के नेता भी आजम खान को लेकर हमदर्दी जता रहे हैं साथ ही समाजवादी पार्टी पर उनकी कानूनी लड़ाई ना लड़ने का आरोप भी लगा रहे हैं। सपा के बाकी विरोधियों तक तो ठीक था लेकिन अब बीजेपी जैसी पार्टी के नेता भी आजम खान को लेकर हमदर्दी जता रहे हैं बीजेपी के कई नेता यह कहते नजर आ रहे हैं कि समाजवादी पार्टी चाहती तो आजम खान जेल से बाहर होते जिसमें अब एक नाम बीजेपी के सांसद का भी जुड़ गया है इसके बाद मानो आजम खान के भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने के कयास भी तेजी से लग रहे हैं।